Meghalaya Politics: बदलता मेघालय का रूख, पार्टी छोड़ने और पकड़ने की सियासत

Meghalaya Politics: मेघालय की राजनिति में बदलाव की संकेत साफ-साफ देखे जा सकते है। हाल ही में भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री एलेक्जेंडर एल. हेक ने कहा कि भाजपा NPP के नेतृत्व वाली मेघालय जनतांत्रिक गठबंधन (MDA) सरकार से जल्द ही समर्थन वापस ले सकती है। साथ ही ये भी कहा कि पार्टी की राज्य कार्यकारिणी समिति और कोर कमेटी के निर्णय से केंद्रीय नेताओं को अवगत करा दिया गया है।  मुख्यमंत्री कॉनराड के. संगमा (Conrad Sangma)  के नेतृत्व वाली एमडीए (NDA) सरकार से समर्थन वापस लेने का यह सही समय है।

यह भी पढ़े- Raju Srivastava Passed Way: 58 की उम्र में राजू श्रीवास्तव ने दुनिया को कहा अलविदा, फैन्स का बुरा हाल

समर्थन  वापस लेने के पहले भी संकेत

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पार्टी के मेघालय प्रभारी एम. चुबा आओ ने पहले कहा था कि पार्टी एक महीने के भीतर NDA से समर्थन वापस ले सकती है। दो विधायकों वाली भाजपा नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) की छह-पार्टी गठबंधन सरकार की सहयोगी है। एओ ने राज्य सरकार के खिलाफ कई भ्रष्टाचार के आरोपों पर रिपोर्टों का अध्ययन कर रही है और सभी कागजात हासिल करने के बाद सीबीआई को सौंप देंगे और वो ही मामले की जांच करेगी। बात दें कि मुख्यमंत्री संगमा की अध्यक्षता वाली एनपीपी और भाजपा के नेतृत्व वाले उत्तर पूर्व जनतांत्रिक गठबंधन (NEDA) और NDA , दो ही एनपीपी का एक महत्वपूर्ण घटक है। लेकिन बीजेपी के साथ इनके रिश्तों में अच्छे नही है, खासकर भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष बर्नार्ड एन. मारक की गिरफ्तारी के बाद।

लेटेस्ट अपडेट के लिए यहां क्लिक करें-https://www.youtube.com/channel/UCWXlcz3ae-IVJaH9aKTb3Pw

यहां भी क्लिक करें- फेसबुक

वही, एनपीपी के राज्यसभा सदस्य और प्रदेश अध्यक्ष डब्ल्यू.आर.खरलुखी ने भाजपा की जांच की धमकी को तमाशा करार दिया था। संगमे, जो एनपीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं, उन्होंने कहा था कि एओ का बयान व्यक्तिगत बताया। कहा एओ के बयान को बीजेपी का आधिकारिक बयान नहीं माना चाहिए।

यह भी पढ़े- Pakistan New Jersey: पाकिस्तान की जर्सी हुई लीक, सोशल मीडिया पर कईओं ने ली चुस्की, कई नाराज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *